Afghanistan की राजधानी Kabul पर तालिबान का कब्ज़ा।

कई हफ़्तों से अफगानिस्तान सेना के बीच संघर्ष चल रहा है और अब तालिबान अफगानिस्तान की राजधानी काबुल तक पहुँच गया है काबुल के बाहर जो सलामी कटरपंथी संगठन तालिबान के लड़ाके खड़े हैं लेकिन तालिबान का ये कहना है की काबुल पर जबरन कब्ज़ा नहीं करेगा तालिबान के मुताबिक राजधानी में शांतिपूर्ण प्रवेस को लेकर बातचीत जारी है। तालिबान ने वादा किया है कि इस दौरान वो आम लोगों को नुक्सान नहीं पहुचायेगा। सरकारी कर्मचारी और सैनिको को भी कोई नुकसान नहीं पहुचायेगा तालिबान ने अपने एक बयान में ये कहा कि उसका बदला लेने का कोई इरादा नहीं ही नहीं है।

अफगानिस्तान संकट दस बड़े अपडेट

राजधानी काबुल को तालिबान ने घेर लिया है , अब तक चौंतीस में पच्चीस प्रांतो पर तालिबान का कब्जा उन पर हो गया है। और आज सुबह तालिबान का जलालाबाद पर हुआ। बिना लड़ाई कि काबुल की सीमा में घुसा तालिबान। जलालाबाद की बाद तालिबान का काबुल पर धावा तालिबान का वादा है कि जबरदस्ती काबुल में प्रवेश नहीं करेंगे। काबुल में सरकारी कर्मचारी दफ्तरों को छोड़कर भाग गए हैं। कलाकान काराबाग,पघमान में तालिबान का कब्ज़ा ,राजनयिकों की वापसी के लिए अमेरिका ने सैनिक भेजे हैं। रूस अफगानिस्तान में दूतावास बंद नहीं करेगा । ये राष्ट्रपति पुतिन ने साफ किया है।

Taliban captures Rashtrapati Bhavan in Kabul in Afghanistan

काबुल पर कब्जा तालिबानी वादा !

काबुल पर जबरन कब्जा नहीं करेगा तालिबान ,राजधानी में शांति से प्रवेश के लिए बातचीत जारी है ये तालिबान का कहना है। किसी भी नागरिक को सेना पर कोई कार्रवाई नहीं होगी,बदला लेने का इरादा नहीं है सभी को माफ़ किया ये कहना है तालिबान का ।

अमेरिका का प्लान

राजनयिकों की सुरक्षित वापसी के लिए रणनीति बनायीं जा रही है। अफगानिस्तान में पांच हजार सैनिको की तैनाती का पूरा प्लान है। और अमेरिकी नागरिकों की सुरक्षित वापसी के लिए तैनाती हो रही है। इसी की अमेरिका के एक हजार सैनिक पहले से अफगानिस्तान में पिछले हफ़्ते तीन हजार सैनिक भेजने का आदेश दिया था। कल दिए थे एक हजार सैनिको की तैनाती के आदेश। तालिबान ने काबुल को घेरा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *