Kya Hai Nayi Shiksha Niti |National Policy on Education 2020

Nayi Shiksha Niti : मानव संसाधन मंत्रालय, भारत सरकार का नाम बदल कर शिक्षा मंत्रालय कर दिया गया है। इसके चलते शिक्षा में बहुत से बदलाव किये गए है। आइये जानते है क्या है ये बदलाव। 

देश की नई शिक्षा पध्दति को 30 जुलाई को Modi cabnet ने मोहर लगा दी। ऐसा माना जा रहा है कि यह देश की शिक्षा निति के लिए एक क्रन्तिकारी बदलाव है। इससे पहले शिक्षा में साल 1986 में बदलाव किये गए थे। और फिर 1992 में इसमें कुछ छोटे मोठे बदलाव किये गए थे। 

Shiksha niti

Krishnaswamy Kasturirangan की अध्यक्षता में उनकी committee के कई विद्वानों द्वारा यह नई शिक्षा निति बनायीं गयी है। K Kasturirangan जो की ISRO के पूर्व प्रमुख भी रह चुके है। 

नयी शिक्षा निति के तहत student को पढ़ाई साथ साथ एक और अधिक Life skill के साथ जोड़ा जायेगा।  जिसकी देश को सबसे ज्यादा जरुरत है। पहले के student के पास degree है और डिप्लोमा है लेकिन skill न होने के कारण उनके पास कोई value नहीं है जिससे उनको कोई पक्का काम नहीं मिल पाता है। जैसा की कहा जाता है मोदी सरकार का काम हमेशा Skill Development में रहता है। 

Nayi Shiksha Niti :

अब school में पढ़ाई के साथ साथ या उच्च शिक्षा के साथ साथ कृषि शिक्षा , चिकित्सा शिक्षा, क़ानूनी शिक्षा और तकनिकी शिक्षा भी इसके अंतर्गत आएँगी। इसका मतलब यह है कि अगर कोई student पढ़ाई के साथ साथ कोई व्यापारिक शिक्षा में अच्छा काम करता है तो उसे भी उसके रिपोर्ट कार्ड में अंकित किया जायेगा। जैसे संगीत, संस्कृत, आर्ट, ये कुछ विषय है जो इसके अंतर्गत आते थे। 

नयी शिक्षा निति में उच्च शिक्षा में दाखिला लेने के लिए एक ही common entrance exam किया जायेगा और यह परीक्षा राष्ट्रीय परीक्षा agency की रेख देख में होगी। 

Nayi-shiksha-Niti

नयी शिक्षा नीति में अब नया education structure होगा।  जैसे पहले 5 + 10 + 2 का structure हुआ करता था, अब इसे बदलकर 5 + 3 + 3 + 4 कर दिया गया है। नयी शिक्षा नीति में स्टूडेंट की शिक्षा को चार भागो में बांटा गया है।

पहले 5 साल में pre primary school के 3 साल और कक्षा 1 और 2 को जोड़ा गया है। पहले 5 साल बच्चो की नीव मजबूत करने में जोर दिया गया है। इसमें भाषा और गणित में बच्चो को निपूर्ण बनाया जायेगा। तथा भाषा भी मात्र भाषा और स्थानीय भाषा होगी। 

अगले 3 साल में बच्चों को 3 – 5 तक पढ़ाई कराई जाएगी इसमें बच्चों को writing skill में ध्यान दिया जायेगा। अलगे 3 साल को मध्य चरण में बांटा गया है यही 6 – 8 की कक्षाओं को पढ़ाया जायेगा। 

और अगले 4 साल में बच्चों को 9 – 12 तक की पढ़ाई कराई जाएगी। 

इसके आलावा नयी शिक्षा पध्दति में multi stream की भी Facility दे राखी है। यानि अगर आप art class के student है तो आप science class के subject पढ़ सकते है। 

नयी शिक्षा नीति के लिए सरकार ने कुल GDP का 6 % खर्चा रखा गया है। जो की अभी तक 443 % हुआ करता था। 2030 तक सभी के लिए शिक्षा का लक्ष्य रखा गया है। जिसमे enrollment 100 % होगा।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *