Tiddi Dal ka Hamla: भारत में टिड्डि दल का सबसे बड़ा हमला

Tiddi Dal ka Hamla: वैसे तो यह २-३ ग्राम की होती है और खाना भी इतना ही खाती है। परन्तु इनका झुंड लाखों-करोड़ों की तादाद में हमला करता है। जिससे यह पूरी फसल को तहस नहस कर देते है।

पिछले कुछ दिनों से tiddi dal ka hamla फिर से चर्चा में है।  tiddi dal फिर से भारत के राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश राज्यों में पहुंच चुके है।  इन्होने यहाँ अभी तक  50 हजार हेक्टेयर से ज्यादा की फसल को चट कर दिया है। अब यह उत्तर प्रदेश और दिल्ली की तरफ आ रहे है।  क्योंकि ये हवा की दिशा में उड़ते है इसलिए यह इस और आ रहे है।

tiddi dal ka hamla

वैज्ञानिको की माने तो tiddi dal एक दिन में लगभग 35000 लोगो का खाना खा जाते है। जो की लगभग १० हाथियों के बराबर होता है।

तथा ये एक दिन में लगभग 100 से 150 km का फासला तय कर लेते है।

आप सभी को पता है कि इस समय हमारा देश ही नहीं पूरा विश्व covid 19 जैसी बीमारी से लड़ रहा है इसके साथ ही एक और समस्या हमारे सामने गई है

टिड्डीयों की समस्या जो हमारे देश में 30 सालों में सबसे  खतरनाक टिड्डीयों का हमला हुआ है

यह हमारे देश के लिए बहुत खराब न्यूज़ हैं ! ये टिड्डीयों का हमला हमारे देश में ही नही बल्कि और देशों में भी हुआ है ये हमला सबसे पहले Horn of Africa देश में हुआ था ! उसके बाद yemen , Iran , Pakistan जैसे देशों में भी टिड्डीयों का हमला हुआ है जिससे की हजारों किसान बर्बाद हो गए है।

उत्तराखंड राज्य से बाहर फसें लोगो के लिए अच्छी खबर

कब उत्तराखंड के जंगल जलना बंद होंगे?| Uttarakhand ke jangle me AAG

अनुमान लगाया जा रहा है कि थे 70 मिलियन से लेकर 80 मिलीयन टिड्डीयों का हमला इन सभी देशों में हुआ है जैसे की अभी बहुत से टिड्डीयों का हमला पाकिस्तान की फासलों में हुआ है

इसके बाद भारत की ओर आएँगे जो  खबर भारत के लिए बहुत बुरी हैं। टिड्डीयों का हमला रोकने के लिए उचित साधन भी नहीं है इसमें मनुष्य भी ज्यादा कुछ कर नही सकता । 

आप किसी भी हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई धर्म में देख लो उसमें साफसाफ बताया गया है कि जब टिड्डीयों का अटैक होता हैं तो बहुत से लोग भूख से मर जाते थे क्योंकि उस टाइम ज्यादा खेती औद्योगिक था नहीं अगर कहीं जगह खेती होती थी तो लोग खेती पर ही निर्भर रहते थे अपने भोजन के लिए सोचिये ये टिड्डीयों के हमले का मुदा है जो कि मनुष्य को बहुत सीसमस्याएं दे रहा है।

tiddi dal ka hamla-Narendra singh tomar

नरेंद्र सिंह तोमर जोकि केंद्रीय कृषि मंत्री है उन्होंने कहा है कि बहुत जल्दी 50 स्प्रे मशीनें भारत पहुंचने वाली है।  ये मशीनें उन्होंने इंग्लैंड से मंगवाई है। अभी जिन राज्यों में प्रवेश हो चुके टिड्डि दल के लिए वहा पर हेलीकॉप्टर और ड्रोन से कीटनाशक स्प्रे करने की योजना चल रही है।

नरेंद्र सिंह तोमर ने ये भी कहा है कि जिन राज्यों में  टिड्डि दल पहुँच चुका है वहा पर झूलों से नियंत्रित किया जा रहा है।

इनसे बचाव के तरीके: अभी तक tiddi dal से निपटने के लिए कोई ठोस उपाय नहीं है। पर कीटनाशक दवाइयों और किटनाशकों का छिड़काव से कुछ कम किया जा सकता है।  किसान इससे बचने के लिए थालिया और ढोल बजाते है। बहुत सारे किसान स्पीकर पर गाने और D J भी बजवाते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *